क्रिकेट टी शर्ट

क्रिकेट टी शर्ट

time:2021-10-27 15:09:05 रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत Views:4591

poker.ru क्रिकेट टी शर्ट 10cric भुगतान विधि,casumo एस,लियोवेगास क्वोरा,lovebet कनाडा,lovebet न्यूकैसल,lovebet ज़ पोल्स्की,बैकारेट बैंकरों की संभावना का विश्लेषण,महिलाओं के लिए बैकारेट,बैकारेट यूके,बेटिंग का matlab,दानिया बीच पर कैसीनो,कैसीनो ब्रिटेन ऑनलाइन,क्लासिक रम्मी असली नकद,क्रिकेट चुटकुले,ई स्लॉट कैसीनो,यूरोपीय गेमिंग नेटवर्क,फ़ुटबॉल नेट रीयल-टाइम ऑड्स,उत्पत्ति कैसीनो एनजेयू,फ़ुटबॉल ओवरटाइम कब तक है,आईपीएल लाइव,जैकपॉट तमिल फिल्म ऑनलाइन,लाइव लाठी धांधली,लिवरपूल 33/1 लवबेट,लॉटरी कल सुबह परिणाम,एनबीए बास्केटबॉल स्कोर,ऑनलाइन कैसीनो वर्जीनिया,ऑनलाइन पोकर játékpénzzel,परिमच घाना,पोकर हिंदी अर्थ,बेटिंग कंपनी की प्रतिष्ठा की रैंकिंग,एक समारोह के लिए नियम,रमी वेरिएंट मुफ्त,स्लॉट मशीन इसहाक,मोबाइल के लिए स्पोर्ट्स 4k वॉलपेपर,मैरीलैंड में स्पोर्ट्सबुक,टेक्सास होल्डम संयोजन,शीर्ष दस सट्टेबाजों की रैंकिंग,ऊपरी और निचली डिस्क क्या है,xfinity लाइव कैसीनो घंटे,ईमोशनल स्टेटस,क्रिकेट 3,गोवा खान,डिबेट का हिंदी अर्थ,फुटबॉल शूज प्राइस,बेटा रोबोट ब्वॉय,लॉटरी डे मटका,हार्डवेयर सिंह .रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत

आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं.
नई दिल्‍ली : देशभर में लॉकडाउन के चलते लाखों लोगों की नौकरियां चली गई थीं. अब स्थिति सुधरती दिख रही है. आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं. इसके शुरुआती संकेत मिलने लगे हैं. जिन लोगों ने कर्मचारी भविष्‍य निधि (ईपीएफ) स्‍कीम को छोड़ा था, वे वापस इससे जुड़ रहे हैं. इस साल जून में ऐसे मेंबर्स की संख्‍या अब तक सबसे ज्‍यादा रही है. वहीं, स्‍कीम छोड़ने वालों की संख्‍या में भी तेज गिरावट आई है.

जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है. आधिकारिक आंकड़ों से इसका पता चलता है. पेरोल के आंकड़े दिखाते हैं कि जून में स्‍कीम से 4.54 लाख मेंबर्स ईपीएफओ से निकले और दोबारा से जुड़ गए. मई में यह आंकड़ा 3.14 लाख और अप्रैल में 2.51 लाख रहा था. पिछले वित्‍त वर्ष में यह औसत 6.5 लाख रहा है.

इसे भी पढ़ें : इस साल हर दस में से सिर्फ 4 कंपनी ने दिया इंक्रीमेंट : सर्वे

स्‍कीम से निकलने वालों की संख्‍या में भी गिरावट आई है. जून में यह 2.99 लाख रही है. इसकी तुलना में मई में यह 4.45 लाख और अप्रैल में 4.08 लाख रही थी. ये आंकड़े देश में संगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति को बयान करते हैं.

जून में ईपीएफओ से कुल 6.55 लाख नए सब्‍सक्राइबर जुड़े. अप्रैल में यह संख्‍या महज 20 हजार और मई में 1.72 लाख रही थी. केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कियान्‍वयन मंत्रालय के आंकड़ों से इसका पता चलता है. वित्‍त वर्ष 2019-20 में औसतन हर महीने 10 लाख नए सब्‍सक्राइबर स्‍कीम से जुड़े. वहीं, जून 2019 में कुल 12 लाख लोग स्‍कीम से जुड़े थे.

इसे भी पढ़ें : इन 8 वेबसाइट से आप कर सकते हैं ऑनलाइन कोर्स, करियर संवारने में मिलेगी मदद

25 मार्च से देश में तीन हफ्तों के लिए देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया था. इसे बाद में कुछ रियायतों के साथ बढ़ाया जाता रहा. एक मई से सरकार ने अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की. इसके तहत चरणबद्ध तरीके से बंदिशों को हटाया जा रहा है.

आंकड़ों के अनुसार, जून में ईएसआईसी से जुड़ने वालों की संख्‍या 7.92 लाख रही. में यह 4.76 लाख, जबकि अप्रैल में 2.58 लाख थी. वैसे, नए लोगों के जुड़ने का आंकड़ा कोरोना से पहले के स्‍तर से अब भी कम है. 2019-20 में स्‍कीम से हर महीने जुड़ने वालों का औसत आंकड़ा 12 लाख से ज्‍यादा था.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

रोजगार के हालातईपीएफओईएसआईसीकर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीमकर्मचारी भविष्‍य न‍िधि संगठन

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.पहले चरण में 31,277 को जिलों का आवंटन हो गया है. इसमें से 15,933 टीचर सामान्‍य कैटेगरी के हैं. 8,513 अन्‍य पिछड़ा वर्ग, 6,615 अनुसूचित जाति और 215 अनुसूचित जनजाति के हैं.कारोबार के साथ चीन को जवाब, भारत का हाथ मजबूत कर रहे गौतम अडानी

सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.चन्नी ने उद्योग को अनुकूल परिवेश का भरोसा दिलाया, दो दिन का पंजाब निवेशक सम्मेलन शुरू

फूड डिलिवरी और रेस्टोरेंट डिस्कवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो (Zomato) के जुलाई में आए आईपीओ (IPO) को शानदार रिस्पांस मिला था। कंपनी के कोफाउंडर और सीईओ दीपिंदर गोयल (Deepinder Goyal) केवल 6 महीने का कैश रह गया था और इसलिए कंपनी को आनन-फानन में आईपीओ (IPO) लाना पड़ा।पेटीएम (Paytm) का आईपीओ इंडिया का सबसे बड़ा आईपीओ (IPO) होगा। अब तक कोल इंडिया (CIL) का आईपीओ इंडिया का सबसे बड़ा आईपीओ है। पेटीएम का आईपीओ अगले महीने आने की उम्मीद है।अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
कौन सा ऑनलाइन कैसीनो वास्तविक है

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.

बैकारेट में कार्ड कैसे गिनें

जून में गिरावट के बाद पिछले दो महीनों में एक्टिव जॉब ओपनिंग्‍स में 74 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है. कंपनियों को कोविड की महामारी खत्‍म होने के बाद प्रतिस्‍पर्धा बढ़ने की उम्‍मीद है. वे इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहती हैं.

टेक्सस होल्डम लैपोक एरेसेज

पेटीएम (Paytm) का आईपीओ इंडिया का सबसे बड़ा आईपीओ (IPO) होगा। अब तक कोल इंडिया (CIL) का आईपीओ इंडिया का सबसे बड़ा आईपीओ है। पेटीएम का आईपीओ अगले महीने आने की उम्मीद है।

मोंग कै कैसीनो, वियतनाम

मुंबई, 27 अक्टूबर (भाषा) कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और विदेशी बाजारों में अमेरिकी मुद्रा की मजबूती के चलते भारतीय रुपया बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान अमेरिकी डॉलर के मुकाबले छह पैसे टूटकर 75.02 पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया पिछले बंद भाव के मुकाबले छह पैसे गिरकर 75.02 पर खुला। रुपया मंगलवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 74.96 पर बंद हुआ था। इसबीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.06 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 93.88 पर आ गया। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड

गोवा की वेशभूषा

जून में गिरावट के बाद पिछले दो महीनों में एक्टिव जॉब ओपनिंग्‍स में 74 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है. कंपनियों को कोविड की महामारी खत्‍म होने के बाद प्रतिस्‍पर्धा बढ़ने की उम्‍मीद है. वे इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहती हैं.

संबंधित जानकारी
फ़ुटबॉल ऑड्स नेटवर्क

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) रिलायंस समूह की फर्म रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर ने स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर के 4.91 करोड़ शेयरों के अधिग्रहण के लिए प्रति शेयर 375 रुपये या कुल 1,840 करोड़ रुपये से अधिक की पेशकश की है। स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर ने शेयर बाजार को बताया कि 4.91 करोड़ शेयर 25.9 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी या कंपनी में संपूर्ण सार्वजनिक हिस्सेदारी के बराबर है। खुली पेशकश के मसौदा पत्र के मुताबिक इस पेशकश में रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (आरएनईएसएल) के अलावा रिलायंस ग्रुप की दूसरी कंपनियां रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) और रिलायंस वेंचर्स लिमिटेड भी शामिल

गरम जानकारी
स्पोर्ट्स टीवी गाइड

नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) रिलायंस समूह की फर्म रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर ने स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर के 4.91 करोड़ शेयरों के अधिग्रहण के लिए प्रति शेयर 375 रुपये या कुल 1,840 करोड़ रुपये से अधिक की पेशकश की है। स्टर्लिंग एंड विल्सन सोलर ने शेयर बाजार को बताया कि 4.91 करोड़ शेयर 25.9 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी या कंपनी में संपूर्ण सार्वजनिक हिस्सेदारी के बराबर है। खुली पेशकश के मसौदा पत्र के मुताबिक इस पेशकश में रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (आरएनईएसएल) के अलावा रिलायंस ग्रुप की दूसरी कंपनियां रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) और रिलायंस वेंचर्स लिमिटेड भी शामिल