इक्का 3 रम्मी

इक्का 3 रम्मी

time:2021-10-23 06:29:48 बेटी की उम्र 8 साल है, सुकन्या समृद्धि और पीपीएफ में से किसमें निवेश करना फायदेमंद? Views:4591

क्रिकेट एक बतख इक्का 3 रम्मी betway जीमेल,fun88 घोटाला,lovebet 5 गेम जैकपॉट बोनस,lovebet इंडिया ऐप,कुंवारे से प्यार करो,3 रील स्लॉट भाप,बैकारेट या डिस्काउंट कोड,बैकरेट जोड़ी बाधाएं,बेस्ट ऑफ फाइव गैस्ट्रोएंटरोलॉजी,सट्टेबाज आप कोशिश कर सकते हैं,कैसीनो लाइव गेम,शतरंज सी कार्यक्रम,क्रिकेट की किताब पीडीएफ डाउनलोड,क्रिकेट यूट्यूब चैनल,यूरोपीय कप सट्टेबाजी नेटवर्क,फुटबॉल सट्टेबाजी रैंकिंग,जी एंड बी विंडोज़,खुश किसान कहवीला,मैं पोकर साइट्स,जैकेट जींस,ला पोकर क्लासिक विजेता,लाइव डीलर लाठी reddit,लॉटरी नवीनतम परिणाम,एम कैसीनो पूल,ऑनलाइन कैसीनो ऐप्स,ज़ूम पर खेलने के लिए ऑनलाइन गेम,ऑनलाइन स्लॉट मैसाचुसेट्स,पोकर 1v1,पोकर कार्यपुस्तिका गणित और प्रीफ्लॉप पीडीएफ,रूले ऑड्स,रम्मी पैसा कमाओ,रश रन फिशिंग रिपोर्ट,स्लॉट कैसे खेलें,खिलाड़ी का नाम,तीन पत्ती हैक APK,नवीनतम फ़ुटबॉल वेब गेम,आभासी क्रिकेट खेल सी++,वाइल्डज़ गुटशेन,lottery संवाद,करीना मटका,क्रिकेट शूज,जंगल साम्राज्य,पासा खेल,बरसात रिंगटोन,रमी सर्किल,स्टेटस पर फोटो कैसे लगाएं, .बेटी की उम्र 8 साल है, सुकन्या समृद्धि और पीपीएफ में से किसमें निवेश करना फायदेमंद?

सुकन्‍या समृद्धि योजना बेटियों के लिए सरकार की लोकप्रिय स्‍कीम है.
कविता मानती हैं कि निवेश का फैसला काफी जांच-परख के बाद ही करना चाहिए. इसके लिए सभी उपलब्ध विकल्पों की समीक्षा जरूरी है. लिहाजा, 8 साल की बेटी के लिए निवेश शुरू करने से पहले वह निवेश के रिटर्न, ब्‍याज दर, जोखिम, समयावधि जैसी बातों का ख्‍याल रखना चाहती हैं. पूंजी बढ़ाने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (एसएसवाई) और पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) को सबसे सुरक्षित निवेश विकल्प माना जाता है. कविता इन दोनों विकल्पों की तुलना करना चाहती हैं. उन्हें पता है कि दोनों पर सेक्शन 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक टैक्‍स बेनिफिट उपलब्‍ध है. हालांकि, एसएसवाई पर ब्‍याज दर पीपीएफ की तुलना में अमूमन 0.5 फीसदी ज्यादा होती है. वह सोच में पड़ी हैं कि क्‍या एसएसवाई बेहतर विकल्प है.

सुकन्‍या समृद्धि योजना बेटियों के लिए सरकार की लोकप्रिय स्‍कीम है. इस स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है. खाता खुलने के बाद से बेटी के 21 साल का पूरा होने पर अकाउंट मैच्‍योर होता है. मैच्‍योरिटी तक ब्‍याज अर्जित करने के लिए खाता खुलने की तारीख से कविता को बेटी के 15 साल का होने तक हर साल न्‍यूनतम निवेश करने की जरूरत पड़ेगी. लेकिन, एसएसवाई में उनका पूरा पैसो बेटी के 18 साल का होने तक लॉक रहेगा. सच तो यह है कि बेटी के 18 साल का होने के बाद भी कविता निवेश का सिर्फ 50 फीसदी ही निकाल पाएंगी. बाकी की रकम वह तभी निकाल पाएंगी जब वह 21 साल की होगी.

इसे भी पढ़ें : मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

सुकन्‍या समृद्धि योजना में अक्‍सर ब्‍याज की दर ज्‍यादा होती है. इसका कारण है कि यह स्‍कीम कविता जैसे माता-पिता को बेटी के भविष्‍य के लिए पैसा जुटाने को प्रोत्‍साहित करने के लिए है. हालांकि, डिपॉजिट बेटी के 15 साल का होने तक किया जा सकता है. 16वें साल से 21वें साल के बीच किसी डिपॉजिट की अनुमति नहीं है. हालांकि, अकाउंट पर ब्‍याज 21 साल तक मिलना जारी रहता है. लिहाजा, पैसे को लॉक होने के बावजूद 15 साल से आगे निवेश पर बंदिश है. यह पूंजी के जुटने की क्षमता पर रोक लगाता है.

दूसरी ओर पीपीएफ कविता को निवेश की अवधि पर बंदिशों के बगैर टैक्‍स-फ्री इंटरेस्‍ट अर्जित करने की सहूलियत देता है. इसमें लॉक-इन अवधि छोटी है और लंबी अवधि तक निवेश किया जा सकता है. पीपीएफ के ये फीचर कंपाउंडिंग अवधि के मामले में एसएसवाई जैसे ब्‍याज देने वाले प्रोडक्‍टों के फायदे को न्‍यूट्रलाइज करते हैं.

इसे भी पढ़ें : कैसा है फ्रैंकलिन इंडिया इक्विटी एडवांटेज फंड का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड?

लिहाजा, कविता के निवेश का फैसला ज्‍यादा ब्‍याज दर से ही प्रभावित नहीं होना चाहिए. उनके पास सुकन्‍या समृद्धि में निवेश के लिए अपेक्षाकृत कम समय (7 साल) है. यह शायद उन्‍हें कंपाउंडिंग का उतना ज्‍यादा फायदा न लेने दे. कविता की बेटी की उम्र अगर और कम होती तो एसएसवाई वाकई शानदार विकल्‍प था. यह उन्‍हें स्‍कीम में निवेश के लिए ज्‍यादा समय देता. उस स्थिति में वह पीपीएफ की तुलना में ज्‍यादा पैसा जुटा पातीं.

इस पेज की सामग्री सेंटर फॉर इंवेस्टमेंट एजुकेशन एंड लर्निंग (सीआईईएल) के सौजन्य से. गिरिजा गादरे, आरती भार्गव और लब्धि मेहता का योगदान.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

Sukanya Samriddhi Yojanaसुकन्‍या समृद्ध‍ि योजनान‍िवेशबेटी के लिए बचतटैक्‍स बेनिफिटपीपीएफ

ETPrime stories of the day

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read

साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.फ्रैंकलिन टेम्पलटन एमएफ से आपको अपना निवेश कब निकालना चाहिए?

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.सिप टॉप-अप फैसिलिटी के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.सुकन्या समृद्धि स्‍कीम में बेटी के जन्‍म के बाद उसके नाम पर खाता खुलवाया जा सकता है. उसके 10 साल का होने तक ऐसा किया जा सकता है.ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
दुनिया का सबसे बड़ा बास्केटबॉल सट्टेबाजी नेटवर्क

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी एससीई पीडीएफ के लिए सर्वश्रेष्ठ पांच एमसीक्यू

वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.

रम्मी में इक्का अंक

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.

बैकारेट रूज 540 परफ्यूम

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

स्लॉट सितारे भारत

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी