बैकारेट गेम मशीन

बैकारेट गेम मशीन

time:2021-10-27 15:57:51 अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे Views:4591

जुआ किस देश में वैध है बैकारेट गेम मशीन betway स्पोर्ट ऐप,लियोवेगास गमस्टॉप,lovebet आ,lovebet लाइव कैसीनो,lovebet वीडियो,150g . द्रव्यमान की एक क्रिकेट गेंद,बैकारेट शतरंज हॉल,भारत में बैकारेट रूज 540 की कीमत,बेटिंग एजेंसी की वेबसाइट,कैसीनो 06200,कैसीनो आरडी रहस्यवादी सीटी,चेसिंघम गार्डन यॉर्क,क्रिकेट क्षेत्ररक्षण की स्थिति,डेलावेयर फुटबॉल लॉटरी कार्ड,यूरोपीय कप भविष्यवाणी आज रात,फुटबॉल बाधा बाधाओं विश्लेषण सॉफ्टवेयर,गेमिंग आधिकारिक वेबसाइट,एचडी कैसीनो वॉलपेपर,इनशोर रश फिशिंग चार्टर्स,जैकपॉट हिंदी अर्थ,लाइव लाठी bet365,लाइव रूले मिस्टर ग्रीन,लॉटरी सांबद रात 8 बजे,मोबाइल प्ले रम्मी,ऑनलाइन कैसीनो मिशिगन,ऑनलाइन पैसा जुआ मंच,नकद के साथ खाता खोलें,पोकर बोर्ड गेम,पूल रम्मी xp,शाही शहद,रमी मॉडल डाउनलोड,स्काई वेगास जैकपॉट किंग गेम्स,स्लॉट विला,खेल ज़िप,टेक्सस ने उन्हें जीतते हुए हाथ पकड़ा,रम्मी क्लब,मोबाइल पर लाइव फुटबॉल देखें,विश्व कप वेबकास्ट,आईपीएल यस्टरडे मैच,कैसीनो के खेल badminton,खेलो पर जुआ vpn,जोकर पिक्चर,फुटबॉल ची माहिती मराठी,बेटा घर पर कैसे बनाएं,लूडो वीडियो डाउनलोड,स्पोर्ट्स गक, .अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

सर्वे के अनुसार, घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की.
नई दिल्ली : भारत में काम करने वाली करीब 87 फीसदी कंपनियां 2021 में कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की योजना बना रही हैं. इसके मुकाबले 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने ही वेतन में वृद्धि की. ग्‍लोबल प्रोफेशनल सर्विसेज फर्म एओन के सर्वे से इसका पता चलता है.

सर्वे के अनुसार, कोरोना संकट से प्रभावित अर्थव्यवस्था के दौर में घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की. यह पिछले एक दशक में सबसे निचला स्तर है. हालांकि, अगले साल औसत वेतनवृद्धि 7.3 फीसदी रहने का अनुमान है.

इसे भी पढ़ें : घर खरीदने के लिए क्‍या यह सबसे अच्‍छा समय है?

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है. 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने वेतन में वृद्धि की. जबकि 2021 में 87 फीसदी कंपनियां वेतनवृद्धि करने के पक्ष में हैं.

सर्वे के मुताबिक, भारत में औसत वेतनवृद्धि 2020 में 6.1 फीसदी रही. यह 2009 के 6.3 फीसदी के औसत से भी नीचे है. एओन के 'सैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडिया' में कहा गया है कि अगले साल कंपनियां वेतन में औसत 7.3 फीसदी की वृद्धि करेंगी. एओन ने इसके लिए 20 से अधिक इंडस्‍ट्रीज की 1,050 कंपनियों के बीच सर्वे किया था.

सितंबर-अक्टूबर 2020 की स्थिति तक 87 फीसदी कंपनियों ने 2021 में वेतनवृद्धि देने की प्रतिबद्धता जताई. जबकि इसमें 61 फीसदी कंपनियों ने कहा कि वे पांच से 10 फीसदी की वेतनवृद्धि देंगी.

इसे भी पढ़ें : होम लोन की मांग बढ़ने से बैंकों में छिड़ी ब्‍याज दर घटाने की जंग

वर्ष 2020 में 71 फीसदी कंपनियों ने वेतनवृद्धि दी. इसमें से 45 फीसदी ने पांच से 10 फीसदी के बीच वेतनवृद्धि दी. एओन में पार्टनर और सीईओ (परफॉर्मेंस एंड रिवॉर्ड सॉल्‍यूशंस) नितिन सेठी ने कहा, ''यह एक अनोखा साल है. कंपनियां अपने कर्मचारियों और ग्राहकों में निवेश कर रही हैं. कोविड-19 के गहरे असर के बावजूद कंपनियों ने कर्मचारियों को लेकर परिपक्‍व और लचीला रुख दिखाया है.''

हाई-टेक, आईटी, आईटीईएस, लाइफ साइंसेज, ई-कॉमर्स, केमिकल्‍स और प्रोफेशनल सर्विसेज ऐसे सेक्‍टरों में हैं जिनमें सबसे ज्‍यादा वेतनवृद्धि होने के आसार हैं.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

वेतनवृद्धिसैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडियाकंपन‍ियांएओनसैलरी में बढ़ोतरीसर्वे

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

रीइंश्‍योरेंस कंपनियों के रेट जीवन प्रत्‍याशा यानी लाइफ एक्‍सपेक्‍टेंसी पर आधारित होते हैं. यह एक लंबी अवधि का ट्रेंड होता है.योनो सुपर सेविंग डेज का पहला चरण फरवरी में संपन्‍न हुआ था. इस दौरान भी ग्राहकों को छूट पर 4 दिन के लिए खरीदारी का मौका मिला था. यह 4 फरवरी से 7 फरवरी तक चला था.कोविड-19 के बीच क्‍या ट्रैवल करने निकले हैं? ये 8 गैजेट्स रखें साथ

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.कर्मचारियों की छंटनी की खबर ऐसे समय आई जब एक महीने पहले ही हरदयाल प्रसाद ने कंपनी में चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव का पद संभाला है. उन्‍होंने अंतरिम प्रमुख नीरज व्‍यास की जगह ली है.यूपी : 31,000 टीचरों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू

कंपनी ने बताया है कि कच्चे माल की कीमत बढ़ने से लागत में इजाफा हुआ है. उसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है.फरवरी 2021 में टीकेएम ने 14,075 वाहनों की बिक्री की थी. इस तरह घरेलू बाजार में उसने फरवरी 2020 के मुकाबले 36 फीसदी ग्रोथ दर्ज की थी.एसबीआई इस साल 14,000 लोगों की भर्ती करेगा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
लाइव बैकारेट की विधि

सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.

विश्व फुटबॉल खाता

जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है.

ऑनलाइन कैसीनो एमआईटी startguthaben

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है.

lovebet का क्रिकेट चैलेंज

कंपनी ने बताया है कि कच्चे माल की कीमत बढ़ने से लागत में इजाफा हुआ है. उसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है.

ऑनलाइन स्लॉट x

हाल में इनपुट कॉस्‍ट में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए मारुति सुजुकी इंडिया, रेनॉ इंडिया, होंडा कार्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, फोर्ड इंडिया, इसुजु, बीएमडब्ल्यू इंडिया, ऑडी इंडिया और हीरो मोटो कार्प जैसी वाहन कंपनियां पहले ही जनवरी से कीमतें बढ़ाने की घोषणा कर चुकी हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी